बोरलॉग डायलॉग में, पैनल सदस्यों ने कृषि रूपांतरण की नवाचारी पद्धतियों पर चर्चा की - धूम्रपान-मुक्त दुनिया फाउंडेशन

बोरलॉग डायलॉग में, पैनल सदस्यों ने कृषि रूपांतरण की नवाचारी पद्धतियों पर चर्चा की

किसी हतोत्साही समस्या से सामना होने पर, ऐसे उत्साही पेशेवरों की संगत में होने से मदद मिलती है जो उसे हल करने के लिए समर्पित हैं। बोरलॉग डायलॉग इंटरनेशनल सिम्पोज़ियम, जो “वैश्विक कृषि के क्षेत्र में दुनिया का प्रमुख सम्मेलन है”, 65 से भी अधिक देशों के ऐसे 1,200 से भी अधिक प्रतिभागियों को बुलाता है जो सभी भूख और कुपोषण से लड़ने के लिए समर्पित हैं। इस वर्ष के सम्मेलन में भाग लेते समय मैंने पाया कि इसके लक्ष्यों और कृषि रूपांतरण पहल (एटीआई) के लक्ष्यों में कुछ सहायक उभयनिष्ठ बिंदु हैं। सिम्पोज़ियम ने कृषि अर्थव्यवस्थाओं के निर्माण में सहायता के लिए विभिन्न प्रकार के निजी क्षेत्र के निवेशों की आवश्यकता पर भी प्रकाश डाला।

तम्बाकू से प्राप्त राजस्व पर अत्यधिक निर्भर देशों में, एटीआई वैकल्पिक फसलों और आजीविकाओं को अपनाने में सहयोग देता है; और इस प्रक्रिया में हम गरीबी से उत्पन्न संकटों, जिनमें विशेष रूप से कुपोषण शामिल है, में सुधार लाने का प्रयास करते हैं। एटीआई का शुरुआती फ़ोकस मलावी पर है, जहां हमने कृषि रूपांतरण केंद्र (सीएटी) की स्थापना की है। इस और प्रयासों में, एटीआई किसानों, व्यापारों, शोध संस्थानों, सरकारी इकाइयों, और सामुदायिक संगठनों के साथ मजबूत साझेदारियां विकसित करने के लिए कार्य करता है। इनमें से कई पक्षों के प्रतिनिधि 2019 बोरलॉग डायलॉग में उपस्थित थे, जहां एटीआई ने अपनी स्वयं की पैनल चर्चा आयोजित की थी।

शोधकर्ताओं, दाताओं, और नीति विशेषज्ञों को संबोधित करते हुए हमारे पैनल सदस्यों ने नए व्यापार एवं संस्थान विकसित करने के अपने अनुभवों का बखान किया। उन्होंने कृषि रूपांतरण के लिए ज़रूरी नीतिगत बदलावों पर भी बात की। पैनल के व्यवस्थापक Dyborn Chibonga थे, जो अलाइंस फ़ॉर अ ग्रीन रिवॉल्युशन इन एफ़्रिका (एजीआरए) के मलावी एवं मोज़ाम्बिक कार्यक्रम प्रमुख हैं। चर्चा के दौरान Chibonga ने मलावी में रूपांतरण की कोशिशों में पैनल सदस्यों के योगदान के बारे में कई तीख़े सवाल पूछे।

अक्तूबर 16 को आयोजित इस कार्यक्रम के मुख्य बिंदु इस प्रकार हैं:

  • थांथ्वे फ़ार्म्स के सह-संस्थापक और प्रबंध निदेशक Ngabaghila Chatata ने मलावी में वृद्धि के वाहक-बल के रूप में उद्यमियों का सहयोग करने की महत्ता पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि छोटे, महिला-नीत व्यापारों का ऊष्मायन, सफलता का वाहक होगा।
  • लैंड ओ’लेक्स, इंक. के वरिष्ठ उपाध्यक्ष John Ellenberger ने अपने संगठन की विकास की रणनीतिक पद्धति पर और सीएटी के साथ उसकी साझेदारी पर चर्चा की। Ellenberger ने इस बात की ओर भी ध्यान दिलाया कि रूपांतरण और वृद्धि को बनाए रखने के लिए, विज्ञान और प्रौद्योगिकी में निवेश बढ़ाने की ज़रूरत है।
  • पिक्सस एग्रिकल्चर के प्रबंध निदेशक Ronald Ngwira ने हज़ारों किसानों को वैकल्पिक कृषि मूल्य शृंखलाओं से जोड़ने में अपने संगठन की भूमिका का बखान किया। लाभप्रद विकल्पों को अपनाना आसान बनाकर, पिक्सस का लक्ष्य वैश्विक तम्बाकू बिक्री की हानि की भरपाई करने के लिए रोज़गार के नए मौकों को बढ़ावा देना, अधिक विविध कृषि उत्पादों की रचना करना, और निर्यात आमदनी हासिल करना है।
  • अपॉर्चुनिटी इंटरनेशनल के कृषि वित्त निदेशक Timothy Strong ने इस बारे में चर्चा की कि प्रौद्योगिकी किन-किन तरीकों से कृषि विविधीकरण को उत्प्रेरित कर सकती है। उन्होंने बताया कि किसानों को नवाचारी प्रौद्योगिकियों से जोड़ना, रूपांतरण का एक बेहद ज़रूरी हिस्सा है।
  • मलावी राष्ट्रीय योजना आयोग के अध्यक्ष प्रोफ़ेसर Richard Mkandawire, पीएच.डी., ने निजी क्षेत्र के निवेश की महत्ता का बखान किया। उन्होंने इस बात को रेखांकित किया कि ग्रामीण समुदायों में आर्थिक वृद्धि के लिए ऐसी सरकारी नीतियां ज़रूरी होती हैं जो सक्षमकारी माहौल बनाती हों।

 

चर्चा के दौरान जितने विविध प्रकार के विषय-बिंदुओं को कवर किया गया उससे उन युक्तियों की विविधता साफ झलकती है जिन्हें एटीआई ने बढ़ावा दिया था। कृषि रूपांतरण के लिए नीति, शोध, प्रौद्योगिकी, समुदाय एवं कई अन्य स्तरों पर बदलाव ज़रूरी होते हैं। मलावी में, एटीआई और उसके साथी ऐसे बदलाव लागू करने के लिए काम कर रहे हैं; और प्रगति अभी से महसूस होने लगी है।

ऐतिहासिक रूप से, मलावी की तम्बाकू के मुनाफ़ों पर अत्यधिक निर्भरता, आर्थिक वृद्धि के रास्ते की बाधा बनी रही है। अब, तम्बाकू किसानों ने उत्पादन का विविधीकरण शुरू कर दिया है; और महिला उद्यमी वैकल्पिक मूल्य शृंखलाओं में निवेश कर रही हैं। इन पहलों को आगे बढ़ाने और बोरलॉग डायलॉग जैसे कार्यक्रमों में उनकी चर्चा करने में, हम आशा करते हैं कि मलावी में एटीआई जो कोशिशें कर रहा है वे तम्बाकू पर निर्भर अर्थव्यवस्थाओं के रूपांतरण के लिए एक प्रेरणा का काम कर सकेंगे।

वर्डप्रेस ऐप्लायंस - संचालक टर्नकी लिनक्स

Powered by