आंकड़ों के पीछे – दक्षिण कोरिया में धूम्रपान - धूम्रपान-मुक्त दुनिया फाउंडेशन

आंकड़ों के पीछे – दक्षिण कोरिया में धूम्रपान

दक्षिण कोरिया में सिगरेट की घटती मात्रा

21 फरवरी 2019 को, केटी एंड जी ने चौथी तिमाही के और 2018 के पूरे वर्ष के प्रचालन परिणाम पेश किए। डेटा से पता चलता है कि घरेलू सिगरेट उद्योग की मात्रा में अच्छी-ख़ासी कमी आई है. 2018 में लगभग 9% और पिछले दो वर्षों में 14% से भी अधिक। हो क्या रहा है?

केटी एंड जी, ब्रिटिश अमेरिकी टोबैको, और Philip Morris International ने दक्षिण कोरिया में 2017 में गर्म किया हुआ तम्बाकू उत्पाद पेश किए थे। जैसा कि जापान में देखा गया है, गर्म किए हुए तम्बाकू उत्पादों की बिक्री, दक्षिण कोरिया की घरेलू सिगरेट मात्रा में अच्छी-ख़ासी वार्षिक प्रतिशत गिरावट ला रही है (चार्ट 1)। त्रैमासिक खेप मात्राओं में भारी उतार-चढ़ाव है, पर रुझान साफ है।

चार्ट 1. दक्षिण कोरिया और जापान में घरेलू सिगरेट उद्योग की मात्रा

 

स्रोत: यह चार्ट कंपनी की रिपोर्टों से प्राप्त आंकड़ों पर आधारित है। केटी एंड जी ने पेश की त्रैमासिक घरेलू सिगरेट कुल बाज़ार मात्रा। Japan Tobacco Inc. ने पेश की मासिक घरेलू सिगरेट बिक्री की मात्रा और बाज़ार में अंश।

हमारा मानना है कि दक्षिण कोरिया के मात्रा के आंकड़े, मुख्य रूप से एक प्रतिस्थापी प्रभाव दर्शाते हैं, बिल्कुल वैसे ही जैसे जापान में। दहनशील सिगरेट स्टिक की मात्रा में आई गिरावट अधिकांशतः गर्म की हुईं तम्बाकू स्टिक की मात्रा में वृद्धि से बराबर हो गई है। दक्षिण कोरिया के आर्थिकी एवं वित्त मंत्रालय ने बताया कि बेचे गए तम्बाकू (जिसमें सिगरेट और गर्म किया हुआ तम्बाकू शामिल है) में गर्म किए हुए तम्बाकू का हिस्सा 2017 में 2.2% से बढ़कर 2018 में 9.6% हो गया है। देश में गर्म किए हुए तम्बाकू उत्पाद सबसे पहले मई 2017 में पेश किए गए थे। ऊपर संदर्भित केटी एंड जी की और सरकार की रिपोर्टों के मुताबिक, स्टिक (सिगरेट और गर्म किया हुआ तम्बाकू) की कुल बिक्री मात्रा 2016 में लगभग 76 अरब, 2017 में लगभग 73 अरब, और 2018 में लगभग 72 अरब थी। 2018 के पूरे वर्ष की कुल स्टिक मात्रा में 2017 की तुलना में लगभग 2% की और 2016 की तुलना में 5% से भी अधिक की गिरावट आई है।

चौथी तिमाही में सिगरेट मात्रा की बहाली – किसलिए?

2017 की चौथी तिमाही के बाद से दक्षिण कोरिया की घरेलू सिगरेट मात्रा में दो-अंकीय प्रतिशत गिरावट दिखाने के बाद, 2018 की चौथी तिमाही में घटाव की दर धीमी होकर मात्र 1.3% रह गई। क्या हुआ था?

सबसे पहले तो, दक्षिण कोरिया के खाद्य एवं औषध सुरक्षा मंत्रालय ने पिछली जून में यह घोषणा की थी कि गर्म किए हुए तम्बाकू उत्पादों की सुरक्षा पर किए गए उसके अध्ययन के परिणामों में ये उत्पाद, पारंपरिक सिगरेट जितने ही हानिकारक पाए गए हैं। दूसरे, सरकार ने 23 दिसम्बर 2018 से गर्म किए हुए तम्बाकू उत्पादों की पैकेजिंग पर चित्रात्मक स्वास्थ्य चेतावनियां शामिल करना आवश्यक करने का निर्णय लिया।. नतीजतन, प्रतीत होता है कि दिसम्बर 2018 में किए गए स्वास्थ्य चेतावनियों में बदलाव से पहले की चौथी तिमाही में, गर्म किए हुए तम्बाकू उत्पादों की ट्रेड इन्वेंटरी की गतिविधियों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ा।

दोषपूर्ण नियामक कार्रवाई से कौनसे दांव जुड़े हैं? दक्षिण कोरिया में, 2016 के आकलनों के आधार पर 15 वर्ष एवं अधिक की आयु वाले लोगों में सिगरेट पीने की वर्तमान दर कुल मिलाकर लगभग 21.5% थी – पुरुषों के लिए यह 37.9% थी और महिलाओं के लिए 5.6% थी। हर वर्ष, 46,700 से अधिक दक्षिण कोरियाई लोग तम्बाकू के कारण होने वाले रोगों से मारे जाते हैं। तम्बाकू का उपयोग, देश में मृत्यु और अशक्तता, दोनों ही का नंबर एक जोख़िम कारक है।

दक्षिण कोरिया के खाद्य एवं औषध सुरक्षा मंत्रालय के दावों के बावजूद, उपलब्ध शोध दर्शाती है कि गर्म किए हुए तम्बाकू उत्पाद धूम्रपान से कम हानिकारक हैं। स्वतंत्र अध्ययनों से निर्माताओं की रिपोर्टों के निष्कर्षों की पुष्टि हुई है जो दर्शाती हैं कि गर्म किए हुए तम्बाकू उत्पादों से निकलने वाले मुख्य धारा के धुएं में मौजूद ख़तरनाक यौगिकों की मात्रा, पारंपरिक दहनशील सिगरेट की तुलना में काफ़ी कम होती है। दुर्भाग्य से, जब कोई व्यापक स्तर पर प्रकाशित और सरकार द्वारा समर्थित अध्ययन धूम्रपान करने वालों को यह मानने पर गुमराह कर दे कि वैकल्पिक अदहनशील तम्बाकू उत्पाद अपनाने की बजाय उनकी बेहतरी दहनशील सिगरेट पीने में है, तो फिर आप नुकसान रोक नहीं सकते। जहां तक Philip Morris International की बात है, तो उसने पिछले अक्तूबर में दक्षिण कोरियाई सरकार के विरुद्ध एक मुकदमा दायर करते हुए परीक्षण के नतीजे प्रकट करने की मांग की। इसके अतिरिक्त, Philip Morris International आर एंड डी ने अपनी प्रतिक्रिया में यह कहा कि दक्षिण कोरिया के परीक्षण परिणाम (1) सिगरेट की तुलना में गर्म किए हुए तम्बाकू उत्पादों में हानिकारक और संभावित रूप से हानिकारक घटकों (एचपीएचसी) की मात्रा में अच्छी-ख़ासी कमी की पुष्टि करते हैं – पर उन पर चर्चा नहीं करते, और (2) उत्पादों की तुलना के लिए “टार” का उपयोग करते हैं – जो एक ऐसा मान है जो एचपीएचसी की मात्रा का कोई संकेत नहीं देता है। जैसा कि तम्बाकू उत्पाद नियमन के डब्ल्यूएचओ अध्ययन समूह ने सहमति दी है, “टार के मापन की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि यह नियमन का कोई ठोस आधार नहीं है, और इसके स्तर भ्रामक हो सकते हैं।”

पर फिर भी, और चौथी तिमाही में घटाव की दर के धीमे पड़ने के बावजूद, दक्षिण कोरियाई घरेलू सिगरेट उद्योग की मात्रा में पिछले दो वर्षों में हुई 14% से अधिक की कमी उल्लेखनीय है – निरपेक्ष आधार पर भी और पारंपरिक तम्बाकू नियंत्रण उपायों के जरिए जिसकी अपेक्षा की जा सकती थी उसके सापेक्ष भी। फाउंडेशन का मानना है कि समाधान में, ठोस नीतिगत नुस्खों के साथ-साथ नवाचार और उपभोक्ता-संचालित मांग का होना भी ज़रूरी है। रिकॉर्ड दर्शाता है कि नीतिगत रणनीतियों पर अमल मात्र से सिगरेट पीने की व्यापकता में उस स्तर और गति का घटाव हासिल नहीं हो रहा है जैसा जापान और दक्षिण कोरिया में देखने को मिल रहा है। वहीं दूसरी ओर, यह जोख़िम कि दोषपूर्ण नियमन सिगरेट पीने को प्रचारित करते हैं और समय-पूर्व मृत्यु व रोग का कारण बनते हैं, दक्षिण कोरिया में वस्तुतः घटित हो रहा हो सकता है – कम-से-कम फिलहाल के लिए तो है ही। फाउंडेशन का मानना है कि धूम्रपान-मुक्त दुनिया हासिल करने के लिए सभी बलों को एक साथ लाने का यही सही समय है।

वर्डप्रेस ऐप्लायंस - संचालक टर्नकी लिनक्स

Powered by