फ़ाउंडेशन का कार्य मॉरवेन षष्ठम संवाद के मूल सिद्धांतों के अनुरूप है - धूम्रपान-मुक्त दुनिया फाउंडेशन

फ़ाउंडेशन का कार्य मॉरवेन षष्ठम संवाद के मूल सिद्धांतों के अनुरूप है

नवम्बर 2018 में आयोजित मॉरवेन संवाद के प्रतिभागियों ने ऐसे 10 मूल सिद्धांतों की पहचान की जो हानि घटाव की प्रभावी नीतियों और उद्देश्यों के विकास एवं कार्यान्वयन के लिए वर्तमान में जारी और भावी चर्चाओं का मार्गदर्शन करने का लक्ष्य रखते हैं। हम इस महीने दोबारा जारी की गई रिपोर्ट के हर मूल सिद्धांत के बारे में धूम्रपान-मुक्त दुनिया फाउंडेशन (जिसे एतद्पश्चात “फाउंडेशन” कहा गया है) के दृष्टिकोण की रूपरेखा देते हैं।

  1. परिभाषाएं एवं शब्दावलियां: बदलते परिवेश में ढलने के लिए स्पष्ट और उपयोगी परिभाषाएं एवं शब्दावलियां विकसित करेंफ़ाउंडेशन विभिन्न तम्बाकू/निकोटीन उत्पादों को बेहतर ढंग से परिभाषित करना, और विभिन्न उत्पादों के उपयोग से जुड़े जोख़िमों और हानि के स्तरों के बारे में, जैसे वैज्ञानिक साक्ष्य द्वारा समर्थित हो वैसे, सत्यपूर्ण और शुद्ध ढंग से सूचित करना चाहता है। जब परिवेश बदल रहा है, विशेष रूप से जब तम्बाकू उद्योग एक रूपांतरण से गुजर रहा है, तो हमारी निकोटीन की वैश्विक प्रवृत्तियाँ रिपोर्ट फाउंडेशन के कार्य एवं शोध कार्यक्रम की नींव रख रही है। हम अध्ययन रिपोर्टों, 2017 में हमारे द्वारा की गई रायशुमारी और इस समय जारी 2019 की रायशुमारी से प्राप्त निष्कर्षों, सांविधिक परिभाषाओं, और नियामक एकरूपता की सहमति में परिभाषाओं और शब्दावलियों का उपयोग करेंगे। उपयोग में ली जाने वाली परिभाषाएं और शब्दावलियां उपभोक्ताओं, रोगियों, और जन सामान्य व अन्य हितधारकों की समझ में आने वाली होंगी; और सांविधिक परिभाषा, नियामक एकरूपता, और प्रासंगिकता के प्रयोजनों से समझ में आने योग्य होंगी।
  2. धूम्रपान प्रतिस्थापन उत्पाद (एसआरपी): दहनशील एवं अदहनशील उत्पादों के बीच के उल्लेखनीय अंतरों की पहचान करें, उन्हें समझें, और उन पर कदम उठाएंदहनशील तंबाकू उत्पादों और अदहनशील निकोटीन विकल्प उत्पादों (जिन्हें संवाद रिपोर्ट में “एसआरपी” कहा गया है) के बीच के उल्लेखनीय अंतरों से अवगत होकर हम विभिन्न उत्पादों के रासायनिक संघटन, आनुवंशिक जानकारी को क्षति पहुंचाने के गुण, और उत्परिवर्तन कर सकने की क्षमता की दृष्टि से उन उत्पादों का लक्षण-वर्णन करने के लिए अध्ययनों का वित्तपोषण कर रहे हैं। हालांकि संवाद रिपोर्ट में एसआरपी शब्द का उपयोग हुआ है, पर हम अदहनशील उत्पादों को तम्बाकू हानि न्यूनकारी उत्पाद या अपेक्षाकृत सुरक्षित निकोटीन उत्पाद कहते हैं, क्योंकि दहनशील तंबाकू उत्पादों की तुलना में उनके स्वास्थ्य जोख़िम कम हैं।
  3. नियामक पर्यवेक्षण: एक सुसंगत, विज्ञानाधारित, उपभोक्ता हितैषी, और प्रोत्साहनाधारित नियामक ढांचा विकसित करें हम विभिन्न उत्पादों से संबद्ध हानि के सापेक्ष और जोख़िम के सातत्य के आधार पर उन उत्पादों के आनुपातिक नियमन का समर्थन करते हैं, इस बात को स्वीकारते हुए कि दहनशील तम्बाकू उत्पादों के साथ सर्वाधिक जोख़िम जुड़ा है, जैसा वैज्ञानिक साक्ष्य से प्रमाणित है। हम अपना जोख़िम घटाने की इच्छा रखने वाले धूम्रपानकर्ताओं की आवश्यकताओं का ध्यान रखने वाले विनियमों का भी समर्थन करते हैं। फ़ाउंडेशन द्वारा वित्तपोषित शोध के निष्कर्ष नीति नियंताओं की नियामक कार्रवाइयों का मूलतत्व बन सकते हैं। हम युवाओं और किशोरों के बीच सभी तम्बाकू उत्पादों, दहनशील और अदहनशील, की मार्केटिंग, विज्ञापन, बिक्री, और उपयोग की रोकथाम के लिए सख़्त नियमन का समर्थन करते हैं।
  4. शोध एवं विज्ञान: उपभोक्ता स्वास्थ्य जोख़िम घटाने के लिए सर्वोच्च सत्यनिष्ठा वाले पारदर्शी, सहयोगपूर्ण शोध को प्रोत्साहित करें फ़ाउंडेशन समवर्गी अध्ययन, पूर्वनैदानिक शोध, एवं नैदानिक परीक्षण संचालित करने के प्रस्तावों के आधार पर कई अनुदान स्वीकृत करता है। फ़ाउंडेशन ने स्वास्थ्य, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी (एचएसटी) से संबंधित कार्य के लिए एक स्वतंत्र सलाहकार समिति की स्थापना की है। हम अनुदान के आवेदनों और अनुदानग्राही के चयन का पर्यवेक्षण एवं समीक्षा भी सुनिश्चित करेंगे। शोध का वित्तपोषण Cohen एवं अन्य के मानदंडों के अनुसार और कोक्रेन मिशन की अनुरूपता में किया जाता है। समस्त शोध फ़ाउंडेशन या किसी भी तृतीय पक्ष से स्वतंत्र रूप से संचालित होगा। हमारे अनुदानग्राहियों के शोध के निष्कर्षों से उपभोक्ताओं, चिकित्सकों, नियामकों, और अन्य हितधारकों को प्रभावी धूम्रपान निवारण साधनों और अदहनशील निकोटीन डिलीवरी प्रणालियों के बारे में, उनके जोख़िमों और आपेक्षिक जोख़िमों के बारे में, उनके संभावित लाभों के बारे में, और जोख़िमों व लाभों की अनुभूति के बारे में उत्तर मिलेंगे। हम निम्न और मध्यम-आय देशों में शोध क्षमताओं को मजबूत बनाने का भी लक्ष्य रखते हैं। शोध अध्ययनों में अरक्षित जनसमूह, जैसे क्रोनिक ऑब्स्ट्रक्टिव पल्मोनरी डिसॉर्डर, मानसिक रोगों, मधुमेह, और हृदयवाहिकीय रोगों से पीड़ित धूम्रपानकर्ता, शामिल होंगे। फ़ाउंडेशन सभी संस्थानों के अपने अनुदानग्राहियों के लिए, उनके मध्य वैज्ञानिक चर्चाओं को बढ़ावा देने, और उन्हें अपने आंकड़े साझा करने व एक-दूसरे का सहयोग करने में सक्षम बनाने का एक संघ भी स्थापित कर रहा है। फ़ाउंडेशन और उसके अनुदानग्राही, समस्त शोध निष्कर्षों को निष्पक्ष ढंग से सूचित करने वाले प्रकाशनों को गोल्ड ओपन एक्सेस प्रदान करेंगे।
  5. नवाचार एवं प्रौद्योगिकी: कम जोख़िम वाले उत्पादों को बढ़ावा और प्रोत्साहन दें फ़ाउंडेशन का लक्ष्य ऐसे नवाचारी पूर्वनैदानिक शोध एवं नैदानिक शोध व परीक्षणों, जो कई शोध परियोजनाओं पर फ़ोकस करेंगे, के वित्तपोषण के लिए निजी व सार्वजनिक क्षेत्र के साथ सहयोगपूर्ण ढंग से कार्य करने का लक्ष्य रखता है। फ़ाउंडेशन की निम्न- और मध्यम-आय देशों में दहनशील तम्बाकू की तुलना में कम जोख़िम वाले उत्पादों के विज्ञानाधारित नवाचार की गति बढ़ाने वाली पहलें आरंभ करने की योजना है। फ़ाउंडेशन इस समय निम्नलिखित नवाचारी और प्रौद्योगिकी शोध परियोजनाओं का वित्तपोषण कर रहा है: संपर्क के बायोमार्कर और धूम्रपान व्यवहार के अनुजात (एपिजेनेटिक) मार्कर; धूम्रपान करने वालों में भावी हानि के बायोमार्कर; और रासायनिक संघटन के आकलन के लिए उत्पाद का लक्षण-वर्णन। फ़ाउंडेशन धूम्रपान करने वालों का चरित्र-चित्रण भी करेगा और धूम्रपान करने वालों की आवश्यकताओं एवं इच्छाओं की पूर्ति के लिए धूम्रपान निवारण एवं तम्बाकू हानि घटाव की आवश्यकताधारित पद्धतियों की पहचान भी करेगा। फ़ाउंडेशन यह भी मानता है कि यही उद्योग नवाचार का सही समय है, क्योंकि अभूतपूर्व एवं नवाचारी प्रौद्योगिकियां केवल दहनशील तम्बाकू में मिलने वाले उत्सर्जनों से संबंधित स्वास्थ्य जोख़िमों की तुलना में निकोटीन डिलीवरी से जुड़े स्वास्थ्य जोख़िम घटा रही हैं।
  6. निगरानी, मूल्यांकन, एवं जवाबदेही: कठोर पर्यवेक्षण के साथ कम जोख़िम वाले उत्पादों के नियामक प्रोत्साहनों और फ़ास्ट ट्रैकिंग में संतुलन स्थापित करें हम इस मूल सिद्धांत की विषय-वस्तु से सहमत हैं और स्वयं को सभी तम्बाकू, निकोटीन, और वैकल्पिक कम जोख़िम वाले उत्पादों के नियामक पर्यवेक्षण की आवश्यकता से संरेखित करते हैं। नियामक पर्यवेक्षण सर्वोपरि है, विशेष रूप से युवाओं द्वारा इन सभी उत्पादों के उपयोग को वश में रखने के लिए। फ़ाउंडेशन तम्बाकू रूपांतरण सूचकांक के रूप में उद्योग की प्रगति का मूल्यांकन करने, और धूम्रपान-मुक्त दुनिया की दिशा में होने वाली प्रगति को बाधित करने के लिए उठाए गए कदमों का आकलन करने का लक्ष्य रखता है। तम्बाकू रूपांतरण सूचकांक प्रतिवर्ष दुनिया की 15 सबसे बड़ी तम्बाकू कंपनियों का मूल्यांकन करेगा, क्योंकि तम्बाकू उद्योग और निकोटीन परितंत्र प्रौद्योगिकीय व्यवधान से गुजर रहा है।
  7. उपभोक्ता और जनसामान्य: निर्णयों से प्रभावित होने वालों को संचार एवं नियामक ढांचे के विकास में शामिल करें फ़ाउंडेशन जनता और उपभोक्ताओं, स्वास्थ्य देखभाल पेशेवरों, नीति नियंताओं, नियामकों, मीडिया, और अन्य हितधारकों को तम्बाकू, निकोटीन, और वैकल्पिक उत्पादों के जोख़िमों और आपेक्षिक जोख़िमों के बारे में, और तम्बाकू संबद्ध रुग्णशीलता एवं मरणशीलता की दृष्टि से वे जो संभावित लाभ दे सकते हैं उनके बारे में, शिक्षित करेगा। हमने धूम्रपान पर 2017 में उपभोक्ताओं का एक सर्वेक्षण आरंभ किया था और इस वर्ष हम कई देशों में एक और रायशुमारी करने जा रहे हैं। 2019 का मतदान देश-वार सांस्कृतिक, सामाजिक-आर्थिक, एवं तम्बाकू उपयोग कारकों के आधार पर, धूम्रपान के व्यवहारों के वर्तमान परिदृश्य, विभिन्न तम्बाकू उत्पादों और वैकल्पिक निकोटीन डिलीवरी प्रणालियों की जागरुकता, उपभोग और अनुभूतियों का और गहरा ज्ञान पाने का लक्ष्य रखता है। इसके अतिरिक्त, हम निकोटीन उपभोक्ता संगठनों का अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क (आईएनएनसीओ) के तम्बाकू हानि घटाव के पक्षधर के रूप में उनके प्रयासों, और वैज्ञानिक दृष्टि से उचित ढंग से उपभोक्ताओं एवं जनसामान्य तक उनके पहुंच-विस्तार के प्रयासों के लिए उनका समर्थन करते हैं।
  8. निकोटीन: निकोटीन के उपयोग से संबंधित जोख़िमों, आपेक्षिक जोख़िमों, और संभावित लाभों के बारे में सत्य व सही जानकारी पहुंचाएं फ़ाउंडेशन का लक्ष्य विभिन्न तम्बाकू एवं निकोटीन उत्पादों, उनके जोख़िमों और आपेक्षिक जोख़िमों से संबंधित जानकारी सही व प्रभावी ढंग से पहुंचाना, और इन गलतफ़हमियों को ठीक करना है कि निकोटीन से सीधे तौर पर कैंसर और अकाल मृत्यु होती है, क्योंकि ऐसा नहीं है। इस दिशा में, हम एक ऐसे सुदृढ़ डिजिटल मंच के विकास का समर्थन कर रहे हैं जो (1) विभिन्न डिलीवरी प्रणालियों के अंदर निकोटीन के बारे में उपभोक्ताओं और मुख्य मत-नायकों (जिनमें स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर, शोधकर्ता, नियामक और नीति नियंता शामिल हैं) की जोख़िम अनुभूतियों की लगातार निगरानी करेगा; (2) निकोटीन-संबंधी वैज्ञानिक शोध की दिशा एवं प्रमुख परिणाम दर्शाएगा; और (3) इस बारे में नवीनतम सूचनाएं देगा कि कैसे शोध से पेटेंटों और व्यापार आवेदनों को जन्म मिल सकता है।
  9. तम्बाकू कृषि: संचार एवं नियामक ढांचे के विकास में कृषि हितधारकों को शामिल करें हालांकि हम रिपोर्ट में इस मूल सिद्धांत में वर्णित चार बिंदुओं का समर्थन करते हैं, जो यह समझने पर फ़ोकस करते हैं कि तम्बाकू उगाना और उसका उत्पादन करना किस प्रकार तम्बाकू हानि घटाव में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, पर फ़ाउंडेशन का कार्य इन बिंदुओं से कहीं आगे तक है। फ़ाउंडेशन की कृषि रूपांतरण पहल (जिसका आरंभिक फ़ोकस मलावी पर है) काफ़ी उन्नत पहल है और यह पहल तम्बाकू किसानों, विशेष रूप से छोटी जोत के किसानों, और उनके समुदायों को उनकी अर्थव्यवस्थाओं का विविधीकरण करने में मदद देने का प्रयास करती है। कृषि क्षेत्र में हम जो कार्य कर रहे हैं वे किसानों को एक ऐसे भविष्य के लिए बेहतर ढंग से तैयार करेंगे जिसमें तम्बाकू की मांग में गिरावट देखने को मिलेगी, पर साथ ही वे उनके देशों की अर्थव्यवस्थाओं को मजबूती देंगे और तम्बाकू पर उनकी निर्भरता घटाएंगे।
  10. संलग्नता एवं संवाद: व्यापक हितधारक संलग्नता के साथ सतत नागरिक संवाद को प्रोत्साहित करें फ़ाउंडेशन विभिन्न हितधारकों, सार्वजनिक स्वास्थ्य संगठनों से लेकर शोधकर्ताओं और उपभोक्ताओं तक से, एवं कई अन्य से संलग्न होने का प्रयास करता है। हमने सोसायटी फ़ॉर रिसर्च ऑन निकोटीन एंड टोबैको (एसआरएनटी) एवं निकोटीन पर वैश्विक फोरम (जीएफएन), और वैश्विक तम्बाकू व निकोटीन फ़ोरम (जीटीएनएफ) जैसी बैठकों में विशेषज्ञों से संवाद किए हैं। राह में चाहे कितना भी विरोध हो, हम अधिकाधिक विशेषज्ञों और हितधारकों के साथ संलग्न होने और उनसे संवाद करने के प्रयास करते रहेंगे।
वर्डप्रेस ऐप्लायंस - संचालक टर्नकी लिनक्स

Powered by