कृषि नवाचार और रूपांतरण को प्रेरित करना - धूम्रपान-मुक्त दुनिया फाउंडेशन

कृषि नवाचार और रूपांतरण को प्रेरित करना

लिलोंग्वे, मलावी में को आयोजित कृषि रूपांतरण शिखर सम्मेलन में पुसत्कों पर हस्ताक्षर करते William Kamkwamba

लिलोंग्वे, मलावी में आयोजित किया गया 14 नवम्बर 2019

 

प्रेरणा कहीं से भी मिल सकती है। कुछ लोगों को दूसरों के शब्द सुनने से प्रेरणा मिलती है। गाढ़ी ज़रूरत के समय, या चिंतन के दौरान भी प्रेरणादायी पल सामने आ सकते हैं।

William Kamkwamba एक मलावियाई नवाचारी और आविष्कारक हैं जिन्होंने 14 वर्ष की आयु में अपने पैतृक गांव में अतिरिक्त पुर्जों और कबाड़ का उपयोग करके बिजली बनाने वाली पवन-चक्की बनाई थी, और उनके इस कारनामे को हाल ही में उनकी पुस्तक, “द बॉय हू हारनेस्ड द विंड” के नाटकीय रूपांतरण के रूप में Netflix ने दुनिया के सामने पेश किया था; उन्हें कई स्रोतों से प्रेरणा मिली थी। उन्हें प्रेरणा मिली ज़रूरतमंद कसुंगु से, जो एक वर्ष बाढ़ तो अगले वर्ष सूखा झेलते हुए भुखमरी का शिकार है, और उन्हें प्रेरणा मिली अपने स्कूल के पुस्तकालय में रखी विज्ञान की पाठ्य-पुस्तकों से, इसके अलावा भी उन्हें कई स्रोतों से प्रेरणा मिली।

कहना न होगा कि, Kamkwamba की कहानी दुनिया भर के युवाओं और वयस्कों को प्रेरित करती है। कृषि रूपांतरण पहल (एटीआई) को लिलोंग्वे, मलावी में गुरुवार, 14 नवंबर को आयोजित द्वितीय कृषि रूपांतरण शिखर सम्मेलन में मुख्य वक्ता के रूप में श्री Kamkwamba की मेज़बानी करने का सम्मान मिला।

शिखर सम्मेलन से पहले, Kamkwamba एटीआई की 2019 कृषि प्रौद्योगिकी चुनौती (एगटेक चैलेंज) के निर्णायक थे, जिसे कृषि रूपांतरण केंद्र (सीएटी) कार्यक्रम ने आयोजित किया था। यह चुनौती कृषि रूपांतरण को प्रेरित करने एवं बनाए रखने के उद्देश्य से आविष्कारकों एवं नवाचारियों की अगली पीढ़ी को उपयोग में लाने हेतु मलावी के युवाओं में नवाचारी सोच को प्रेरित करने के लिए डिज़ाइन की गई थी। Kamkwamba ने सीएटी कर्मचारियों साथ मिलकर संपूर्ण आवेदन प्रक्रिया के दौरान प्रतिभागियों को परामर्श दिया और उनका हौसला बढ़ाया। सभी फाइनलिस्ट को शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए, और एक दिन पहले अंतिम आकलन हेतु अपने नवाचारों को निर्णायकों के सम्मुख प्रस्तुत करने के लिए आमंत्रित किया गया।

शिखर सम्मेलन में उनका मुख्य संबोधन इस बारे में उत्तम सलाह से भरपूर था कि नवाचार कैसे करें, डिज़ाइन कैसे करें, और अपनी स्वयं की योग्यता का लाभ कैसे उठाएं; इस संबोधन केबाद एगटेक चुनौती के विजेताओं की घोषणा हुई, और उनके आविष्कारों के लिए उन्हें ट्रॉफियां दी गईं, जिस दौरान स्पीकरों से Shakira का संगीत तेज़ आवाज़ में बज रहा था और कोलाहलपूर्ण तालियां गूंज रही थीं।

 

एक यूनिवर्सिटी विद्यार्थी मूंगफलियों की कटाई में लगने वाला श्रम घटाने वाला अपना आविष्कार एगटेक चुनौती के निर्णायकों को दिखाते हुए

एग्रीटेक चैलेंज के जजों को मूंगफली की कटाई

पूरा दिन प्रेरक वार्ताओं और वक्ताओं से भरा था, जिसमें छोटी जोत की किसान Patrica Mussa की मर्मस्पर्शी टिप्पणियां शामिल हैं, जिन्होंने अपने स्वयं के खेत पर फसल बीमा के प्रभाव का स्पष्ट वर्णन किया, और उन सर्वेक्षण विधियों का गहराई से वर्णन किया जो उनके विचार में भविष्य में अधिक शुद्ध एवं उपयोज्य आंकड़े प्रदान करेंगी। प्रतिभागियों को श्रम की बचत करने वाले नवाचारों को काम करते देखने का मौका मिला, जैसे Bountifield International और Soybean Innovation Lab की ओर से एक मल्टी-क्रॉप थ्रेशर का प्रदर्शन। पैनल सदस्यों ने कृत्रिम बुद्धिमत्ता, आंकड़ा विज्ञान, और स्वचालन के क्षेत्र के वैश्विक रुझानों पर, कृषि क्षेत्र पर उनके प्रभावों पर, और मलावी एवं अन्य देशों में पकड़ बना रहीं कौशल विकास की नवाचारी पद्धतियों पर बहस की। एक सम्मेलन-व्यापी वॉट्सएप ग्रुप के माध्यम से, प्रतिभागी विभिन्न मुद्दों, जैसे निवेश के रूप में भूमि और कृषि क्षेत्र में फसल बीमा का महत्व एवं भूमिका, पर एक-दूसरे से संलग्न हो सके। दिन के आख़िर में, मिनेसोटा यूनिवर्सिटी और स्टेलेनबॉश यूनिवर्सिटी के चार पीएचडी धारकों ने मलावी के कृषि बाज़ारों में डेटा क्रांति तेज़ी से आरंभ करने की एक निडर योजना प्रस्तुत की।

यह स्पष्ट है कि मलावी में प्रतिभाओं की कमी नहीं है। प्रसिद्ध हस्तियों, किसानों, प्रोफेसरों, चिकित्सकों से लेकर स्वयं माननीय कृषि मंत्री तक, विभिन्न प्रकार के वक्ताओं और दृष्टिकोणों को एक मंच पर लाकर द्वितीय वार्षिक एटीआई शिखर सम्मेलन ने स्वयं को एक प्रेरक एवं रोमांचक आयोजन सिद्ध किया।

जैसा कि Kamkwamba ने अपने संबोधन में कहा (हालांकि शब्द थोड़े अलग थे) – प्रतिभा हर जगह है, पर अवसर नहीं। मलावी में निवेश करने और नवाचार, विज्ञान, और प्रौद्योगिकी को बढ़ावा देने से यह सुनिश्चित होगा कि यह देश तम्बाकू पर अपनी निर्भरता ख़त्म करने हेतु साथ मिलकर काम करने को तैयार है।

बाएं से दाएं : Derek Yach, अध्यक्ष, धूम्रपान-मुक्त दुनिया फाउंडेशन; Candida Nakhumwa, कृषि रूपांतरण पहल के लिए मलावी की देश प्रमुख; Kondwani Nakhumwa, कृषि, सिंचाई, एवं जल विकास मंत्री; Jim Lutzweiler, धूम्रपान-मुक्त दुनिया फाउंडेशन के लिए कृषि एवं आजीविकाएं के उपाध्यक्ष; और Gray Nyandule Phiri, कृषि, सिंचाई, एवं जल विकास मंत्रालय के प्रधान सचिव

वर्डप्रेस ऐप्लायंस - संचालक टर्नकी लिनक्स

Powered by